हर औरत को पता होना चाहिए

अनुवाद: पुनीत कुसुम

एक औरत के पास
उसके नियंत्रण में पर्याप्त धन होना चाहिए बाहर जाने के लिए,
और किराए पर अपनी एक जगह लेने के लिए
भले ही वह यह कभी न करना चाहे या उसे इसकी ज़रूरत कभी न भी पड़े

एक औरत के पास
होना चाहिए पहनने के लिए कुछ खूबसूरत अगर उसका बॉस या उसका
सपनों का शहज़ादा मिलना चाहे उससे एक घंटे के अंदर

एक औरत के पास
होनी चाहिए वह युवावस्था
जो वह खुश और संतुष्ट होकर पीछे छोड़ सकती हो

एक औरत के पास
ऐसा मज़ेदार अतीत होना चाहिए जिसके बारे में वह खूब आनंद लेकर सुना पाए अपने बुढ़ापे में

एक औरत के पास
होना चाहिए पेचकस का एक सेट, एक
बिना तार की ड्रिल और काली लेस वाली एक ब्रा

एक औरत के पास
एक ऐसा दोस्त होना चाहिए जो उसे हमेशा हँसाता हो
और एक ऐसा दोस्त, जिसके सामने रोने में वह सहज हो

एक औरत के पास
ऐसा फर्नीचर होना चाहिए
जैसा उसके परिवार में पहले किसी ने न खरीदा हो

एक औरत के पास
होने चाहिए आठ एक-सी प्लेटें, लम्बे शराब के गिलास,
और खाने की एक रेसिपी
जिससे वो अपने मेहमानों की बढ़िया खातिरदारी कर सके

एक औरत के पास
उसके भाग्य पर उसका नियंत्रण होने का एहसास होना चाहिए

हर औरत को पता होना चाहिए
कैसे पड़ा जाता है प्यार में, ख़ुद को खोए बिना

हर औरत को जानना चाहिए
कैसे छोड़नी है एक नौकरी, करना है विच्छेद
एक प्रेमी से,
और कैसे करना है विरोध किसी दोस्त का
बिना दोस्ती ख़राब किए

हर औरत को पता होना चाहिए
कब करने हैं और अधिक प्रयत्न और
कब चले जाना है हटकर दूर

हर औरत को पता होना चाहिए
कि वह नहीं बदल सकती अपनी पिण्डलियों की लम्बाई,
अपने नितम्बों का आकार
या स्वभाव अपने माता-पिता का

हर औरत को समझना चाहिए
कि उसका बचपन शायद परिपूर्ण नहीं था
लेकिन अब वह बीत चुका है

हर औरत को
जानना ही चाहिए
कि वह प्यार के लिए क्या कर सकती है और क्या नहीं

हर औरत जानती हो
कैसे रहा जाता है अकेला, चाहे यह उसे न भी पसंद हो

हर औरत को पता होना चाहिए
वह किसपर भरोसा कर सकती है, किसपर नहीं
और क्यों उसे यह बात व्यक्तिगत स्तर पर नहीं लेनी चाहिए

हर औरत को पता होना चाहिए
कि जब उसकी आत्मा चाहती हो कुछ आराम, तो उसे कहाँ जाना है
अपने सबसे अच्छे दोस्त की रसोईघर की मेज़ पर
या जंगल की किसी सुन्दर सराय में

हर औरत को पता होना चाहिए
वह क्या कर सकती है और क्या नहीं कर सकती, एक दिन में…
एक महीने में… एक साल में…