नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘लड़की’ (क़ंदील बलोच के नाम) – सोफ़िया नाज़

नज़्म: ‘लड़की’ – सोफ़िया नाज़ (क़ंदील बलोच के नाम) पतले नंगे तार से लटकी जलती, बुझती, बटती वो लड़की जो तुम्हारी धमकी से नहीं डरती वो लड़की जिसकी मांग टेढ़ी है अंधी तन्क़ीद की कंघी से Read more…

By Posham Pa, ago
नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘क्या करूँ’ – यासमीन हमीद

‘क्या करूँ’ – यासमीन हमीद क्या करूँ मैं आसमां को अपनी मुट्ठी में पकड़ लूँ या समुन्दर पर चलूँ पेड़ के पत्ते गिनूँ या टहनियों में जज़्ब होते ओस के क़तरे चुनूं डूबते सूरज को उंगली Read more…

By Posham Pa, ago
नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘ओ देस से आने वाले बता’ – अख़्तर शीरानी

‘ओ देस से आने वाले बता’ – अख़्तर शीरानी ओ देस से आने वाले बता किस हाल में हैं यारान-ए-वतन आवारा-ए-ग़ुर्बत को भी सुना किस रंग में है कनआन-ए-वतन वो बाग़-ए-वतन फ़िरदौस-ए-वतन वो सर्व-ए-वतन रैहान-ए-वतन Read more…

By Posham Pa, ago
नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘जब सोच रही थी मैं एक नज़्म’ – तनवीर अंजुम

नज़्म: ‘जब सोच रही थी मैं एक नज़्म’ – तनवीर अंजुम जब सोच रही थी मैं एक नज़्म वो निकल गई बराबर से नाराज़गी से मुझे देखती तवज्जोह नहीं दे सकी मैं उनकी दानिश-मंदाना बातों पर Read more…

By Posham Pa, ago
नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘दो ज़िंदगियाँ’ – अज़रा अब्बास

नज़्म: ‘दो ज़िंदगियाँ’ – अज़रा अब्बास हम दो ज़िंदगियां जी रहे हैं एक वो जो तुम देख रहे हो हमें अच्छे कपड़े पहन कर घूमते हुए हंसते मुस्कुराते हुए एक वो, जो हम सह रहे हैं Read more…

By Posham Pa, ago
नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘बोल! अरी ओ धरती बोल!’ – मजाज़ लखनवी

‘बोल! अरी ओ धरती बोल!’ – मजाज़ लखनवी बोल! अरी ओ धरती बोल! राज सिंघासन डाँवाडोल बादल बिजली रैन अँधयारी दुख की मारी प्रजा सारी बूढ़े बच्चे सब दुखिया हैं दुखिया नर हैं दुखिया नारी Read more…

By Posham Pa, ago
नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘सिंड्रेला’ – गौरी चुघ

‘सिंड्रेला’ – गौरी चुघ सुनो लड़की! इस बार कोयले की राख को पेशानी पर रगड़ लेना हालात की सौतेली बहनों से समझौता तुम कर लेना नहीं आएगी परी कोई तुम्हारा मुस्तक़बिल बदलने को कोई घोड़ागाड़ी Read more…

By Posham Pa, ago
नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘मेघदूत’ – फ़हमीदा रियाज़

‘मेघदूत’ – फ़हमीदा रियाज़ सनसनाहटों के साथ गड़गड़ाहटो के साथ आ गया पवन रथ पे बैठ कर मेरा मेघ देवता दोश पर हवाओं के बाल उड़ाता हुआ उसका जामुनी बदन आसमाँ पे छा गया दूर तक Read more…

By Posham Pa, ago
नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘रतजगों का ज़वाल’ – शहरयार

‘रतजगों का ज़वाल’ – शहरयार वो अँधेरी रात की चाप थी जो गुज़र गई कभी खिड़कियों पे न झुक सकी किसी रास्ते में न रुक सकी उसे जाने किस की तलाश थी मिरी आँख ओस Read more…

By Posham Pa, ago
नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘ये वो धरती नहीं है’ – गुलनाज़ कौसर

‘ये वो धरती नहीं है’ – गुलनाज़ कौसर नहीं ये वो धरती नहीं है नहीं ये वो धरती नहीं है जहां मेरा बचपन मेरा तितलीयों, फूलों, रंगों से लबरेज़ बचपन किसी शाहज़ादी की रंगीं कहानी की Read more…

By Posham Pa, ago
नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘इक बार कहो तुम मेरी हो’ – इब्ने इंशा

‘इक बार कहो तुम मेरी हो’ – इब्ने इंशा हम घूम चुके बस्ती बन में इक आस की फाँस लिए मन में कोई साजन हो कोई प्यारा हो कोई दीपक हो, कोई तारा हो जब Read more…

By Posham Pa, ago
नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘क़ैद में रक़्स’ – किश्वर नाहीद

‘क़ैद में रक़्स’ – किश्वर नाहीद सब के लिए ना-पसंदीदा उड़ती मक्खी कितनी आज़ादी से मेरे मुँह और मेरे हाथों पर बैठती है और इस रोज़-मर्रा से आज़ाद है जिस में मैं क़ैद हूँ मैं तो Read more…

By Posham Pa, ago
नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘एक पुरानी कहानी’ – ज़हरा निगाह

‘एक पुरानी कहानी’ – ज़हरा निगाह किसी शहर में इक कफ़न चोर आया जो रातों को क़ब्रों में सूराख़ करके तन ए कुश्तगां से कफ़न खींच लेता आख़िर ए कार पकड़ा गया और उसको मुनासिब सज़ा Read more…

By Posham Pa, ago
नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘युधिष्ठिर’ – अम्बर बहराईची

‘युधिष्ठिर’ – अम्बर बहराईची अभी चीड़ के जंगलों से गुज़रना बहुत जाँ-फ़ज़ा है कई मील के बाद बर्फ़ीले तूदों का सहरा मिलेगा जहाँ सर्द पुरवाइयों के थपेड़े थिरकते मिलेंगे उमूदी ढलानों का इक सिलसिला भी Read more…

By Posham Pa, ago
नज़्में | Nazmein

नज़्म: ‘खंडर’ – शमीम करहानी

‘खंडर’ – शमीम करहानी इसी उदास खंडर के उदास टीले पर जहाँ पड़े हैं नुकीले से सुरमई कंकर जहाँ की ख़ाक पे शबनम के हार बिखरे हैं शफ़क़ की नर्म किरन जिस पे झिलमिलाती है Read more…

By Posham Pa, ago

Copyright © 2018 पोषम पा — All rights reserved.




Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.


error: