उद्धरण | Quotes

कुछ पंक्तियाँ – ‘अपनी अपनी बीमारी’ (हरिशंकर परसाई)

“जो नहीं है, उसे खोज लेना शोधकर्ता का काम है। काम जिस तरह होना चाहिए, उस तरह न होने देना विशेषज्ञ का काम है। जिस बीमारी से आदमी मर रहा है, उससे उसे न मरने Read more…

By Posham Pa, ago
उद्धरण | Quotes

कुछ पंक्तियाँ – ‘ग़बन’ (प्रेमचंद)

“उत्कंठा की चरम सीमा ही निराशा है।” “रूपये के मामले में पुरूष महिलाओं के सामने कुछ नहीं कह सकता। क्या वह कह सकता है, इस वक्त मेरे पास रूपये नहीं हैं। वह मर जाएगा, पर Read more…

By Posham Pa, ago
उद्धरण | Quotes

कुछ पंक्तियाँ – ‘चित्रलेखा’ (भगवतीचरण वर्मा)

“हम न पाप करते हैं और न पुण्य करते हैं, हम केवल वह करते हैं जो हमें करना पड़ता है।” “प्रत्येक मनुष्य सुख चाहता है। केवल व्यक्तियों के सुख के केन्द्र भिन्न होते हैं।” “कुछ-कुछ Read more…

By Posham Pa, ago
error: