छिपने की जगह

छिपने की सभी जगहों
में से कुछ सुरक्षित जगह हैं
रात की आखिरी कौंध
चुप की जु़बां
राख हुई हसरत से उठता धुआं
लिखने से बची हुई आधी कविता
प्रेम की धज्जियाँ
लिजलिजे रहस्य
किसी हठ का यकीं
मन से निकली एक निर्लज्ज टहनी
कभी ना पूरी होने वाली कल्पना
छिपा जा सकता है यहाँ

पर अहमक लोगों
कभी मत छिपना
किसी महफूज़ जगह में,
किसी की खींची हुई साँस में
या मुंदी हुई आँखों में
ये तुम्हारे लिये एक नया कार्यक्षेत्र होगा
जो तुम्हें व्यापारी बना देगा
और सभ्यतावश तुम बेईमानी सीख जाओगे
और जब-जब किसी को कहोगे खूबसूरत
तो उसके अलावा करोड़ों का दिल तोड़ोगे!