“चार महीने जिम जाकर ये अदरक जैसी बॉडी बनायी तुमने?”

“तुम चाय जैसी क्यों होती जा रही हो?”

“चाय जैसी? मतलब? देखो  रेसिस्ट कॉमेंट किया तो अभी ब्रेक-अप हो जाएगा”

“अरे बाबा! मतलब हर वक़्त तुम्हारी तलब लगी रहती है”

“और, सर्दियों में अदरक बिना चाय अच्छी भी तो नहीं लगती..”


Link to buy the book:

Subscribe here

© 2018 पोषम पा ALL RIGHTS RESERVED | ABOUT | CONTACT | PRIVACY POLICY | TERMS OF USE

Don`t copy text!