‘महावीर’ विंग कमाण्डर अभिनन्दन

विंग कमाण्डर अभिनन्दन के लिए कुछ लिखने का प्रयास किया है, ये मेरा विनम्र प्रणाम उन महावीर को।

ये गरुड़ सबका चहेता है,
अभिनंदन विश्वविजेता है
बैरी के सर काट-काट
F-16 से भू पाट-पाट,
अरि की नींदें हर लेता है
अभिनदंन विश्व विजेता है।

‘मूँछों’ की जिसने लाज रखी,
हिन्दवाणी फिर मरजाद रखी,
राणा शिवा की याद रखी,
निर्भीक जिसने सब बात रखी
शत्रु का तेज हर लेता है
अभिनंदन विश्व विजेता है

यम समान जो क्रोधी है
शत्रु मार्ग अवरोधी है
वायु मार्ग जो जाता है
बाघा बोर्डर से आता है
जो शत्रु सेज पे सोता है
अभिनंदन विश्व विजेता है

मात भौम का मान रखा,
सबसे ऊपर सम्मान रखा,
जब सूर्य छिप गया बादल में
तो अंधकार में भान रखा
ये हिंगलाजा का बेटा है
अभिनंदन विश्व विजेता है

भीम समान बलधारी जो,
निर्भीक निशंक प्राणधारी जो
भारत भू अवतारी जो
‘चारण’ उसके गुण गाता है
वही तो वीरत्व प्रणेता है
अभिनंदन विश्व विजेता है