nayi kitaab ravish kumar bolti aawaaz the free voice

विवरण: देवेश ‘अलख’ की कविताओं का संकलन अद्भुत दृश्यों का संग्रह है जिनमें विरल संवेदनशीलता एवं विविधता देखने को मिलती है। इनकी कविताओं में प्यार है कायनात से, इंसान से, इंसानी रिश्तों से, यदि एक शब्द में कहा जाये तो रूमानियत के कवि हैं ‘अलख’। इनकी कविताओं में हिन्दी के साथ-साथ उर्दू और अंग्रेज़ी शब्दों का समावेश भी है जो इनकी कविताओं को आम आदमी से जोड़ता है।

  • Format: Hard Bound
  • Publisher: Vani Prakashan (2018)
  • ISBN: 978-93-87648-88-3
  • Author: DEVESH ALAKH
  • Pages: 100

इस किताब को खरीदने के लिए ‘ख़्वाब अधखुली आँखों के’ पर या नीचे दी गयी इमेज पर क्लिक करें!

nayi kitaab ravish kumar bolti aawaaz the free voice