ओरहान पामुक – कुछ पंक्तियाँ (From My Name Is Red)

“मैं पेड़ नहीं बनना चाहता, मैं पेड़ का मतलब होना चाहता हूँ।”

“बताओ तो फिर, प्रेम में इंसान मूर्ख हो जाता है या केवल मूर्ख ही प्रेम में पड़ते हैं?”

“वे किताबें जिन्हें हम दिलासा पाने का माध्यम समझ बैठते हैं, केवल हमारे दुखों को प्रगाढ़ करती हैं।”

“जो किसी प्रेमी का चेहरा तुम्हारे हृदय पर ज्यों का त्यों अलंकृत रह पाया हो, तो यह संसार अब भी तुम्हारा घर है।”

“रंग आंखों का स्पर्श है,
बहरों का संगीत
अंधेरे से कढ़ा एक शब्द!”

“कुत्ते बोलते हैं, लेकिन केवल उनसे जो सुनना जानते हैं।”

“जानना देखे गए को याद रखना है, देखना बिना याद रखे जानना है।”

“कला में निराशा से बचने के लिए, उसे कभी व्यवसाय नहीं बनाना चाहिए।”

“चित्रकारी विचार का मौन और दृष्टि का संगीत है।”

“केवल मूर्ख ही बेक़सूर हैं।”


Posham Pa

भाषाओं को भावनाओं को आपस में खेलना पोषम-पा चाहिए खेलती हैं चिड़िया-उड़..।

Leave a Reply

Related Posts

उद्धरण | Quotes

पाब्लो पिकासो – कुछ पंक्तियाँ/उद्धरण

पाब्लो पिकासो – कुछ पंक्तियाँ/उद्धरण (अनुवाद: मनोज पटेल) कला एक झूठ है जो सत्य जानने में हमारी सहायता करती है। हर वह चीज वास्तविक है जिसकी तुम कल्पना कर सकते हो। सभी बच्चे कलाकार होते Read more…

उद्धरण | Quotes

‘झूठा सच’ से यशपाल की कुछ पंक्तियाँ/उद्धरण

‘झूठा सच’ से यशपाल की कुछ पंक्तियाँ/उद्धरण “सच को कल्पना से रंग कर उसी जन समुदाय को सौंप रहा हूँ जो सदा झूठ से ठगा जाकर भी सच के लिए अपनी निष्ठा और उसकी ओर Read more…

उद्धरण | Quotes

‘स्त्रियों के लिए नसीहतें’ – माया एंजेलो

‘स्त्रियों के लिए नसीहतें’ – माया एंजेलो  (अनुवाद: विपिन चौधरी) 1. एक औरत के पास अपने नियंत्रण में पर्याप्त पैसा होना चाहिए ताकि बाहर जाते वक्त या खुद के लिए एक जगह किराए पर लेकर वह Read more…

error:
%d bloggers like this: