नतीजा

पुरबी दी के सामने उद्विग्‍न भाव से रूमा ने 'होम' की बच्चियों की छमाही परीक्षा के कार्ड सरका दिए। नतीजे…

दिल बहलाव – ii

एक शख्‍स ने एक बड़े आदमी को उर्दू में दरखास्‍त लिखी- "खुदा हुजूर की उम्र दराज करे, हुजूर की नजर…

असली बात

शहर में फसाद हुए आज पहला ही दिन था। हिंदू-मुसलमान मोहल्लों के बीच तमतमाती हवा बह रही थी। प्रशासन ने…

क्रांतिकारी
Getty Images Mondadori Portfolio

क्रांतिकारी

सन 1919। वह इटली में रेल से सफर कर रहा था। पार्टी हेडक्वार्टर से वह मोमजामे का एक चौकोर टुकड़ा…

घाटे का सौदा

'घाटे का सौदा' - सआदत हसन मंटो दो दोस्तों ने मिलकर दस-बीस लड़कियों में से एक लड़की चुनी और बयालीस…

पेट की खातिर

'पेट की खातिर' - विजय 'गुंजन' उन दोनों के चेहरों पर उदासी थी। आपस में दोनों बहुत ही धीमी आवाज…

युगल स्वप्न

'युगल स्वप्न' - बनफूल सुधीर आया है। उसके हाथ में रजनीगन्धा का एक फूल है- डण्ठल सहित। आँखों में चमक,…

कविता: कुछ विचार

'कविता: कुछ विचार' - बालमणि अम्मा (निबन्ध संग्रह 'सरस्वती की चेतना' से; अनुवादक: डॉ. आरसु) हर आदमी के मन में…

चकरघिन्नी

'चकरघिन्नी' - नूर ज़हीर वो दुबकी हुई एक कोने में बैठी थी, लेकिन ज़किया को बराबर यह एहसास हो रहा…

नीच

'नीच' - रज़िया सज्जाद ज़हीर शामली को देख कर सुलताना को लकड़ी के उन बेढंगे टुकड़ों का ख़याल आ जाता था…

औरत और मर्द

'औरत और मर्द'  - खलील जिब्रान  (अनुवाद: बलराम अग्रवाल) एक बार मैंने एक औरत का चेहरा देखा। उसमें मुझे उसकी समस्त…

Close Menu
error: