Tag: Dogri Poem

Padma Sachdev

ये राजा के महले क्या आपके हैं?

ये राजा के महले क्या आपके हैं? मैं घर से बेघर हो चुकी हूँ मेरी आँखों की ज्योति छिन चुकी है मुझे अंधी करके जो फेंक गए...
कॉपी नहीं, शेयर करें! ;)