व्यंग्य | Satire

व्यंग्य: ‘मेरी जेब’ – कामता प्रसाद सिंह‍ ‘काम’

व्यंग्य: ‘मेरी जेब’ – कामता प्रसाद सिंह‍ ‘काम’ जादू का खजाना, भानुमती की पिटारी, रहस्‍यों और भेदों को गुप्‍त रखने के लिए चोली, देखने में भोली-भाली पर कमाल का काम करने वाली यह मेरी जेब Read more…

By Posham Pa, ago

Copyright © 2018 पोषम पा — All rights reserved.




Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.


error: