Tag: Mother and Children

Subhadra Kumari Chauhan

इसका रोना

यह कविता पता नहीं कितनी व्यवहारिक है लेकिन परंपरागत परिवारों में एक बच्चे के पालन-पोषण को लेकर माँ और पिता की गंभीरता और जिम्मेदारी में अंतर तो दिखाई देता है! हाँ, लेकिन साथ में यह देखना भी सुखद है कि आजकल पिता भी 'व्यवहार में माँ' बनने लगे हैं! :)
कॉपी नहीं, शेयर करें! ;)