Tag: Wound

Kumar Vikal

एक प्रेम कविता

यह गाड़ी अमृतसर को जाएगी तुम इसमें बैठ जाओ मैं तो दिल्ली की गाड़ी पकड़ूँगा हाँ, यदि तुम चाहो तो मेरे साथ दिल्ली भी चल सकती हो मैं तुम्हें अपनी...
कॉपी नहीं, शेयर करें! ;)