Random Posts:

Recent Posts

किराये का घर

किराये का घर

'किराये का घर' - विष्णु डे (अनुवाद: डॉ भारतभूषण अग्रवाल) किराये का घर रूखी ज़मीन की तरह है, जड़ें जमाने…

Read more
नेल्सन मंडेला के कुछ विचार

नेल्सन मंडेला के कुछ विचार

"जब तक कोई कार्य कर न लिया जाए, वह असम्भव ही लगता है।"   "मेरे देश में हम पहले जेल…

Read more
नीच

नीच

'नीच' - रज़िया सज्जाद ज़हीर शामली को देख कर सुलताना को लकड़ी के उन बेढंगे टुकड़ों का ख़याल आ जाता था…

Read more

Featured Posts

मैं पाँचवे का दोषी हूँ

मैं पाँचवे का दोषी हूँ

'मैं पाँचवे का दोषी हूँ' - विशेष चन्द्र 'नमन' शाम के लिए पिघली है धूप लौटा है सूरज किसी गह्वर…

Read more
सा रे गा मा ‘पा’किस्तान

सा रे गा मा ‘पा’किस्तान

सा रे गा मा 'पा'किस्तान - शिवा सामवेद से जन्मे सुरों को लौटा दो हिन्दुस्तान को और कह दो पाकिस्तान से…

Read more
प्यार मत करना

प्यार मत करना

'प्यार मत करना' - कुशाग्र अद्वैत जिस शहर में पुश्तैनी मकान हो बाप की दुकान हो गुज़रा हो बचपन हुए…

Read more
Close Menu
error: