“मैं सिर्फ़ और सिर्फ़ एक चीज़ हूँ और वह है जोकर। यह मुझे राजनीतिज्ञों की तुलना में कहीं ऊँचे आसन पर स्थापित करता है।”

 

“मैं ईश्वर के साथ मज़े में हूँ, मेरा टकराव इंसानों के साथ है।”

 

“कविता को अर्थपूर्ण होने की आवश्यकता क्या है?”

 

“मैं ऐसी सुन्दरता के साथ बहुत देर नहीं रह सकता जिसे समझने के लिए उस की व्याख्या करनी पड़े।”

 

“हम सोचते बहुत हैं और महसूस बहुत कम करते हैं।”

 

“ज़िन्दगी क्लोज-अप में ट्रेजेडी है, लेकिन लाँग-शॉट में कॉमेडी।”

 

“एक आवारा, एक सज्जन, एक कवि, एक सपने देखने वाला, एक अकेला आदमी – ये हमेशा रोमांस और रोमांच की उम्मीद करते हैं।”

 

“मनुष्य एक व्यक्ति के रूप में प्रतिभाशाली है। लेकिन भीड़ के बीच वह एक नेतृत्वहीन राक्षस बन जाता है, एक महामूर्ख जानवर जिसे जहाँ हाँका जाए, वहाँ चला जाता है।”

 

“मैं पैसों के लिए बिज़नेस में गया, और वहीं से कला पैदा हुई। यदि इस टिप्पणी से लोगों का मोह भंग होता है तो मैं कुछ नहीं कर सकता। यही सच है।”

 

“अब मेरे लिए अमेरिका का कोई उपयोग नहीं है। यदि ईसा मसीह भी वहाँ के राष्ट्रपति बन जाएँ तो भी मैं वहाँ वापस नहीं जाऊँगा।”

 

“मैं यकीन नहीं करता कि जनता जानती है कि उसे क्या चाहिए; मैंने अपने करियर से यही निष्कर्ष निकाला है।”

 

“अंतत: तो सब कुछ एक ढकोसला है।”

Previous articleलिहाफ
Next articleउसने तो नहीं कहा था
चार्ली चैपलिन
चार्ल्स स्पेन्सर चैप्लिन, (16 अप्रैल 1889 - 25 दिसम्बर 1977) एक अंग्रेजी हास्य अभिनेता और फिल्म निर्देशक थे। चैप्लिन, सबसे प्रसिद्ध कलाकारों में से एक होने के अलावा अमेरिकी सिनेमा के क्लासिकल हॉलीवुड युग के प्रारंभिक से मध्य तक एक महत्वपूर्ण फिल्म निर्माता, संगीतकार और संगीतज्ञ थे।