शैरन ओल्ड्स (Sharon Olds) अमेरिकी कवयित्री हैं और न्यू यॉर्क यूनिवर्सिटी में क्रिएटिव राइटिंग पढ़ाती हैं। उन्हें कविता में पुलत्ज़र पुरस्कार प्राप्त है। यहाँ प्रस्तुत कविता उनकी अंग्रेज़ी कविता ‘His Stillness’ का हिन्दी अनुवाद है। अनुवाद आदर्श भूषण ने किया है।

डॉक्टर ने पिता से कहा— “आपने कहा था
कि जब हमारे पास और कोई रास्ता न बचे तो हम आपको बता दें।
यही बताने अब मैं आया हूँ।”

पिता शान्त बैठे रहे, जैसे वे हमेशा बैठते थे
आँखों में विश्रान्ति लिए
मुझे लगा था जब उन्हें पता चलेगा कि वे नहीं बचेंगे
अकुलाहट से भर जाएँगे, हाथ पटकते हुए चीख़कर रो पड़ेंगे
लेकिन एक सज्जन की तरह,
वे गहरी चुप से भरकर बैठे रहे
डॉक्टर ने फिर कहा—
“हम कुछ चीज़ों के सहारे कुछ समय और खींच सकते हैं
लेकिन आपको पूरी तरह ठीक नहीं कर सकते।”

पिता ने कहा—
“शुक्रिया!”
और वह स्थिर, एकान्तिक
किसी विदेशी राजदूत की तरह अपनी गरिमा सम्भाले बैठे रहे

मैं उनके बग़ल में बैठी थी
यह थे मेरे पिता
जिन्हें पता था कि वे मरणशील हैं

मुझे डर था कि कहीं वे उन्हें बांध न दें
लेकिन मुझे यह याद नहीं रहा
कि वे हमेशा से ऐसे ही थे, शान्त, गम्भीर और
सब कुछ चुपचाप सहनेवालों में से,
शायद शराब बस एक बहाना थी
उनकी चुप्पी ढाँपती हुई

नहीं, मैं उन्हें नहीं जानती थी,
इतना गौरव था उनमें
उनके जीवन के अन्तिम दिनों में
उनका जीवन मुझमें शुरू होने लगा था।

जिम जारमुश् की फिल्म ‘पैटर्सन’ में रॉन पैजेट की कविताएँ

Book by Sharon Olds:

Previous articleदिवंगत पिता के प्रति
Next articleशिवेन्द्र – ‘चंचला चोर’
आदर्श भूषण
आदर्श भूषण दिल्ली यूनिवर्सिटी से गणित से एम. एस. सी. कर रहे हैं। कविताएँ लिखते हैं और हिन्दी भाषा पर उनकी अच्छी पकड़ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here