अबकी मुझे चादर बनाना

सद्दाम हुसैन हमारी आखिरी उम्मीद था

ईश्वर नहीं नींद चाहिए

क्या सोचती होगी धरती

लिखने से क्या होगा

 

Link to buy:

Previous articleनींद का उचटना
Next articleसमर्पण
अनुराधा सिंह
जन्म: 16 अगस्त, उत्तर प्रदेश। शिक्षा: दयालबाग शिक्षण संस्थान आगरा से मनोविज्ञान और अंग्रेज़ी साहित्य में स्नातकोत्तर। प्रमुख पत्र-पत्रिकाओं और ब्लॉग्स में कविताएँ, अनुवाद व आलेख प्रकाशित। पत्रिकाओं के विशेषांकों, कवि केंद्रित अंकों, विशेष स्तम्भों के लिए कविताएँ चयनित व प्रकाशित। सम्प्रति मुंबई में प्रबंधन कक्षाओं में बिजनेस कम्युनिकेशन का अध्यापन।