विवरण: मोहब्बत की नज़में एक शायर की ज़िन्दगी में आने वाली मोहब्बत की छोटी सी कहानी को बयान करती हैं। इन नज़्मों मे कहीं मुलाक़ातों की फुआर है, कहीं शामों की सौंधी ख़ुश्बू है। कभी दीदार की ख़ुशियां है तो कहीं जुदाई का सोग है। ये नज़्में आपको अपने जीवन में होने वाले प्यार के हर अनुभव से जुड़ी हुई महसूस होंगी। कभी आपकी तन्हाई की साथी बनेंगी, कभी किसी नए रिश्ते की वजह।

  • Format: Paperback
  • Pages: 138 pages
  • Publisher: MyBooks Publication (4 May 2018)
  • ISBN-10: 9386474905
  • ISBN-13: 978-9386474902
Previous articleसैक्स फंड
Next articleप्रोपगंडा-प्रभु का प्रताप
पोषम पा
सहज हिन्दी, नहीं महज़ हिन्दी...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here