संतुलन

1

आश्चर्य है,
हँसने के लिए कारण खोजता व्यक्ति
रो देता है अकारण!

किसी को प्रेम करना
उसकी दुःख-निधि पर अपना अधिकार जमाना है,
किसी से प्रेम पाना
उसके सुखों को दोगुना करना।

2

हरे!
कितना संतुलित था
मेरा जीवन…

आधा प्रेम में बीता
आधा प्रेम की बातें करते।

3

बीतेगा…
तुम्हारे प्रेम पत्र के शब्दों
पर शिरोरेखा भरने में
शेष जीवन!

संगीत

संगीत, सदा
स्मृतियों की कुटी में
झाँकने का छोटा-सा झरोखा रहा

जैसे हर शाम,
तुम्हारी याद आती है,
और मैं रोने लगता हूँ

और, विस्मृति के महल में
प्रवेश करने का द्वार..

क्षमा करना,
यदि मैं तुम्हारी मुस्कान से
निःसृत संगीत में खोकर
भूल जाऊँ तुम्हें

विरहाकुल प्रेमियों का विलाप
ब्रह्मांड का पवित्रतम संगीत है

यही सुनकर, निरंतर
करता है ईश्वर,
अपना मनोरंजन।