अनुवाद: पुनीत कुसुम

जब तक तुम मुझे नहीं मिले थे,
मैंनें कविताएँ लिखीं, तस्वीरें बनायीं
और, गई दोस्तों के साथ बाहर
सैर के लिए..

और अब जब मैं तुम्हें प्यार करती हूँ
लिपटा एक बूढ़े कुत्ते की भाँति
मेरा जीवन विश्राम करता है, तृप्त
तुम में…