क्षणिकाएँ

Short Poems: Harshita Panchariya

1

मंदिरों की घण्टियाँ
और मस्जिदों की अज़ान
इस बात का प्रमाण हैं
कि ईश्वर बहरा है
ईश्वर का बहरा होना
उसके अंधे होने से
ज़्यादा बेहतर है
ताकि ढूँढ सके
मनुष्यता के बचे हुए अवशेष।

2

शातिर बिल्लियाँ आमदा हो
रखी हैं रास्ता काटने को,
पर उन्हें ये समझना
आवश्यक है
कि बाघ चूहों का शिकार
नहीं किया करते।