Tag: इंतज़ार

Deepak Jaiswal

लूनी नदी

'Looni Nadi', a poem by Deepak Jaiswal अमूमन नदियाँ समंदर में जाकर मिल जाती हैं— पूर्णता को धारण करते हुए एक सुंदर जीवन जीते हुए। लेकिन कुछ नदियों...
Waiting, Train, Girl, Window, Thinking, Alone, Lonely

प्रतीक्षा

'Prateeksha', Hindi Kavita by Rashmi Saxena समुद्र की सभी लहरें शंकाओ से घिरी प्रेमिकाएँ हैं जो आ-आकर तटों पर टहलतीं और लौट जातीं प्रेमी के वापस आने की आस में साँसों की भट्टी...
Old woman

अपूर्ण प्रतीक्षा

“विदेश से आने में लाखों रुपये का खर्च पड़ता है सो मैं ही मना कर देती हूँ। क्या ज़रूरत है फालतू पैसे बर्बाद करने की। मैं सही सलामत हूँ ही और इनकी पेंशन से मेरा काम आराम से चल जाता है, पर बच्चे भी इतने ज़िद्दी ठहरे कि बिना पैसे भेजे मानते ही नहीं।”
Rahul Boyal

प्रतीक्षा और प्रतिफल

'Prateeksha Aur Pratiphal', a poem by Rahul Boyal हम हँसने के तमाम मौक़ों से चूकते गये ये जानते हुए कि हँसना झुर्रियों से लड़ना है। या तो...

इंतज़ार

एक ज़माना गुज़र गया जाते-जाते कह गया चाँदी उतर आई है बालों पर थक गई होगी, बुन क्यों नहीं लेती ख्यालों की चारपाई? सुस्ता ले ज़रा ख्वाबों की चादर ओढ़ कुनकुनी...
Waiting, Train, Girl, Window, Thinking, Alone, Lonely

अपने अपने प्रिय

"एक दिन इजाज़त मिली सबको अपना प्रिय चुनने की..." प्रेम ने क्या चुना?
Man standing near waterbody, river, ocean, sea

कितना वक़्त लगाया तुमने आने में

कितना वक़्त लगाया तूने आने में उलझे मन के धागों को सुलझाने में कुछ छोटी सी बातों को ठुकराने में एक ज़रा सी बात पे रूठे इस...

सूर्योदय की प्रतीक्षा में

वे सूर्योदय की प्रतीक्षा में पश्चिम की ओर मुॅंह करके खड़े थे दूसरे दिन जब सूर्योदय हुआ तब भी वे पश्चिम की ओर मुॅंह करके खड़े थे जबकि सही दिशा-संकेत...

STAY CONNECTED

26,311FansLike
5,944FollowersFollow
12,517FollowersFollow
231SubscribersSubscribe

MORE READS

कॉपी नहीं, शेयर करें! ;-)