अब्दुल वहाब

अब्दुल वहाब
1 POSTS 0 COMMENTS
मेरे पुख़्ता इरादे ख़ुद मेरी तक़दीर बदलेंगें , मेरी क़िस्मत मोहताज़ नही मेटे हाथों की लकीरों की । Student of POLITICAL SCIENCE , AMU , Aligarh
कॉपी नहीं, शेयर करें! ;)