nayi kitaab satrangi yaadein

विवरण: एक तरह का उद्वेलन। बिना कहे रह न पाने की मजबूरी। जैसा कि अक्सर यात्राओं में होता है। राह में कहीं फूल मिले तो कहीं काँटे। कहीं चट्टानें अवरोधक बनीं तो कहीं शीतल बयार ने राहें सुगम बना दीं। यात्रा में अपने अनुभवों, विचारो एवं भावों को अपनी अभिन्न सहेली ‘डायरी’ के सादे पन्नों पर सँजोती रही। रोज़-ब-रोज़ ये पन्ने सतरंगी भावों से सजते चले गये। इन्हीं में से कुछ पन्नों ने इस पुस्तक का रूप धारण कर लिया है।

  • Format: Hardcover
  • Publisher: Vani Prakashan (2018)
  • ISBN-10: 9387648729
  • ISBN-13: 978-9387648722

नोट: इस किताब को खरीदने के लिए ‘सतरंगी यादें: यात्रा में यात्रा’ पर या नीचे दी गयी इमेज पर क्लिक करें!

nayi kitaab satrangi yaadein


Posham Pa

भाषाओं को भावनाओं को आपस में खेलना पोषम-पा चाहिए खेलती हैं चिड़िया-उड़..।

Leave a Reply

Related Posts

नयी किताबें | New Books

नयी किताब: सुकृता कृत ‘समय की कसक’

विवरण: “सुकृता की कविताओं में संवेदना का घनत्व हमेशा आकर्षित करता है। देश-देशान्तर में घूमते हुए कई चीज़ें उनका ध्यान खींच लेती हैं। चाहे वह पगोडा के मन्दिर हों, हनोई के मिथक, एलोरा की गुफ़ाएँ या Read more…

नयी किताबें | New Books

नयी किताब: शशिभूषण द्विवेदी कृत ‘कहीं कुछ नहीं’

विवरण: खामोशी और कोलाहल के बीच की किसी जगह पर वह कहीं खड़ा है। और इस खेल का मजा ले रहा है। क्या सचमुच खामोशी और कोलाहल के बीच कोई स्पेस था, जहां वह खड़ा था।’उपर्युक्त Read more…

नयी किताबें | New Books

नयी किताब: दिलीप पाण्डेय, चंचल शर्मा कृत ‘कॉल सेंटर’

विवरण: दिलीप पाण्डेय और चंचल शर्मा की कहानियाँ हिंदी कहानियों में कुछ नए ढंग का हस्तक्षेप करती हैं। यहाँ बहुत-सी कहानियाँ हैं जिनका मैं जिक्र करना चाहता हूँ, लेकिन दो-तीन कहानियाँ तो अद्भुत हैं। आमतौर पर Read more…

error:
%d bloggers like this: