उस दौरान मैंने आठ से दस
अलग-अलग शहरों का पानी पी रखा था
और यह जाना था
कि एक लड़की अपने जीवन की सबसे सुंदर कविताएं प्लेटफार्म पर लिख सकती है
बशर्ते, कोई पुरुष उसकी सुरक्षा के हवाले
उसे प्लेटफार्म तक विदा करने ना आए!

हो सकता है मैं यहां अपने पिता की बात कर रही हूँ,

मेरे पिता जब मुझे प्लैटफार्म तक विदा करने आते थे
मैंने कई बार अपनी जगह
अपनी मां की कल्पना की है

अगर मेरी मां और उसके जैसी औरतों को
ट्रेनें पकड़नी होती
तो वे सब
प्लेटफार्म पर अपना कविता संग्रह बना सकती थीं

हमारी मांओं के लिए प्रेम
प्लेटफार्म से गुजर चुकी वो ट्रेनें हैं
जिनकी टिकटें उनके नाम से कभी काटी नहीं गई

तुम मुझे विदा करने नहीं आए थे
उसकी एवज़ में
मैंने कविता संग्रह बनाया है!