‘कौन है’ – नामदेव

कौन है
जो बन्दूक की नली से
गुलाब को घायल कर रहा है?

कौन है
जो बन्सरी की चोट से
किसी का सर फोड़ रहा है?

कौन है
जो बाल-मन्दिर की क्लास में
चाबुक चला रहा है?

कौन है
जो सोने के हार से
पत्नी का गला घोंट रहा है?

कौन है
जो बच्चे सहित पालने को
फेंक रहा है कुएँ में?

कौन है
जो शहनाई से
साइरन बजा रहा है?

हे अर्जुन-
वह मैं ही हूँ!
वह मैं ही हूँ!

■■■

चित्र श्रेय: Vishal Mishra