‘भद्दी तस्वीर’ और ‘मन्दिर और रोटी’

भद्दी तस्वीर

मैं मोबाइल कैमरे से
तस्वीर उतारता हूँ
पक्की सड़क के
बीचोबीच

घास चरती
ऑफिस की घरेलू
नग्न स्त्रियों की

और उनकी
योनियाँ निहारते
तार्किक वैज्ञानिक
पुरुषों की

मन्दिर और रोटी

पुरुषों ने
मंदिर पाथे

स्त्रियों पर अत्याचार किये

स्त्रियों ने
उपले पाथे

और पुरुषों को रोटी दी

***

©चश्म