सचेत

बादल
इसलिए गरजते हैं
ताकि पृथ्वी
अप्रत्याशित वर्षा को
प्रेम न समझ बैठे।

प्रेम-प्रमाण

धरती हमेशा
आसमान से
अपना मिलन चाहती है।
धरती से आसमान की ओर
बढ़ते वृक्ष
इसका प्रत्यक्ष
प्रमाण हैं।

पत्ते का रंग

पत्ते हरे हैं
इसका अर्थ
यह कदापि नहीं
कि उनकी आँखें
लाल नहीं हो सकतीं!

Previous articleजिस दिशा में मेरा भोला गाँव है
Next articleटारगेट किलिंग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here