Tag: Martha Medeiros

Martha Medeiros

रफ़ता-रफ़ता यूँ ही किसी रोज़ मर न जाओ

कविता: रफ़ता-रफ़ता यूँ ही किसी रोज़ मर न जाओ ('You Start Dying Slowly') कवयित्री: मार्था मेदेरुस (Martha Medeiros) अनुवाद: असना बद्र तो रफ़ता-रफ़ता यूँ ही किसी रोज़...
कॉपी नहीं, शेयर करें! ;)