Tag: Wahi Manushya Manushya Ke Liye Mare

Maithili Sharan Gupt

मनुष्यता

विचार लो कि मर्त्य हो, न मृत्यु से डरो कभी, मरो परन्तु यों मरो कि याद जो करें सभी। हुई न यों सु-मृत्यु तो वृथा मरे, वृथा...
कॉपी नहीं, शेयर करें! ;)