अलका पाठक

अलका पाठक
1 POSTS 0 COMMENTS

STAY CONNECTED

34,951FansLike
14,116FollowersFollow
22,311FollowersFollow
821SubscribersSubscribe

Recent Posts

Ashok Chakradhar

डैमोक्रैसी

पार्क के कोने में घास के बिछौने पर लेटे-लेटे हम अपनी प्रेयसी से पूछ बैठे— क्यों डियर! डैमोक्रैसी क्या होती है? वो बोली— तुम्हारे वादों जैसी होती है! इंतज़ार में बहुत तड़पाती...
Javed Akhtar, Shabana Azmi

बंजारा

मैं बंजारा वक़्त के कितने शहरों से गुज़रा हूँ लेकिन वक़्त के इस इक शहर से जाते-जाते मुड़ के देख रहा हूँ सोच रहा हूँ तुमसे मेरा ये नाता...
Dushyant Kumar

मत कहो, आकाश में कुहरा घना है

मत कहो, आकाश में कुहरा घना है, यह किसी की व्यक्तिगत आलोचना है। सूर्य हमने भी नहीं देखा सुबह से, क्या करोगे, सूर्य का क्या देखना है। इस...
Ashok Vajpeyi

अलग-साथ समय

उसका समय मेरे समय से अलग है— जैसे उसका बचपन, उसकी गुड़ियाँ-चिड़ियाँ यौवन आने की उसकी पहली सलज्ज पहचान अलग है। उसकी आयु उसके एकान्त में उसका प्रस्फुटन, उसकी इच्छाओं...
Couple, Love, Walking

प्रेम करना गुनाह नहीं है

हम सामाजिक परम्पराओं से निर्वासित हुए लोग थे हमारे सर पर आवारा और उद्दण्ड का ठीकरा लदा था हम ने किसी का नुक़सान नहीं किया था न ही नशे में गालियाँ...
Namdeo Dhasal

गुलाबी अयाल का घोड़ा

मुझे स्वतंत्रता पसन्द है वह बढ़िया होती है समुद्र-जैसी घोड़ा आओ, उसका परिचय कर लेंगे शतकों की सूलि पर चढ़ते हुऐ उसने देखा है हमें अपना सबकुछ शुरू होता है...
Vishesh Chandra Naman

भारी समय में

थोड़ा-सा चमकता हुआ थोड़ा चमक खोता हुआ आता है समय ख़ुद को बचाता हुआ ख़ुद को बिखराता हुआ एक वज़नहीन कोहरे में लिपटा यह समय कितना भारी हो गया है मैं...
Mohammad Rafi - Swayam Ishwar Ki Awaz

वह आवाज़ जिसने करोड़ों लोगों को मंत्रमुग्ध किया

किताब अंश: 'मोहम्मद रफ़ी - स्वयं ईश्वर की आवाज़' उस आवाज़ की तारीफ़ को चंद शब्दों में समेट पाना ज़रा मुश्किल है, जिसकी शख़्सियत का...
Woman in front of a door

प्रेम

वह औरत आयी और धीरे से दरवाज़े का पर्दा उठा भीतर खिल गई कमरों के पार आख़िरी कमरे की रोशन फाँक से तब से मुझे घूर रही है पर दीवार की...
Nazim Hikmet

नाज़िम हिकमत : रात 9 से 10 के बीच की कविताएँ

अनुवाद: मनोज पटेल (पढ़ते-पढ़ते से साभार) (पत्नी पिराए के लिए) 21 सितम्बर 1945 हमारा बच्चा बीमार है। उसके पिता जेल में हैं। तुम्हारे थके हाथों में तुम्हारा सर बहुत...
कॉपी नहीं, शेयर करें! ;-)