काजल खत्री

काजल खत्री
2 POSTS 0 COMMENTS
जब प्रेम हद से ज्यादा बढ़ जाता है भीतर तो उंगलियों से बाहर आता है कविता बनकर,प्रेम और कविता दोनों मेरा पहला प्यार है

STAY CONNECTED

26,513FansLike
5,944FollowersFollow
12,755FollowersFollow
237SubscribersSubscribe

MORE READS

कॉपी नहीं, शेयर करें! ;-)