रसगुल्लों की खेती होती,
बड़ा मज़ा आता।
चीनी सारी रेती होती,
बड़ा मज़ा आता।

बाग़ लगे चमचम के होते,
बड़ा मज़ा आता।
शरबत के सब बहते सोते,
बड़ा मज़ा आता।

चरागाह हलवे का होता,
बड़ा मज़ा आता।
हर पर्वत बरफ़ी का होता।
बड़ा मज़ा आता।

लड्डू की सब खानें होतीं,
बड़ा मज़ा आता।
दुनिया घर में पेड़े बोती,
बड़ा मज़ा आता।

मिलती रुपए किलो मिठाई,
बड़ा मज़ा आता।
रुपए होते पास अढ़ाई,
बड़ा मज़ा आता।

Previous articleअपने सिवा हर एक की हँसी-मुस्कराहट अजीब लगती है
Next articleअबकी मुझे चादर बनाना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here