ताओयुआन एरपोर्ट से लगेज बैग लेकर
ज्यांगोंग रोड स्थित अपने नये ठिकाने पर आकर
सामान की जाँच करने पर मैंने पाया
सही सलामत बैग में रखे पहुँच गये कपड़ों, तेल, मसालों के साथ
बैग के बाहर के उपेक्षित हिस्से में रखे चले आए थे
पुराने जूते
रखते समय, मैं झड़कारना भूल गया था
उनके सोल में लगी बरसाती मिट्टी

उस मिट्टी के वहाँ रह जाने में
मेरी लापरवाही का प्रमाण था
फिर मैंने ध्यान दिया कि
मिट्टी के कणों में
मैं अपने साथ ले आया था
अगस्त की बारिश
उत्तराखंड से राजस्थान की बरसाती यात्रा
थोड़ा-सा उत्तराखंड, थोड़ा-सा राजस्थान
थोड़ा-सा हिमालय, थोड़ी-सी अरावली
सम्भव है, कुछ अंश दिल्ली का होना भी

चूँकि मिट्टी जूतों पर थी
मैंने दोहरायी
नानाजी की सिखायी प्रातःकालीन क्षमा प्रार्थना
“पादस्पर्शं क्षमस्व मे”
मिट्टी को झड़कारकर बटोरा
और सम्भालकर रख दिया
ग्यारहवीं मंज़िल के अपने कमरे की अलमारी में

हर प्रवासी अपने-अपने प्रतीकों में सुरक्षित रखता है देश
सबके भीतर एक सहमा हुआ बहादुर शाह ज़फर बैठा है
जो अंत में लौट आना चाहता है अपने वतन
होने को राख या दफ़न

थोड़े से अन्न-पानी का उन्माद खींच लाता है
प्रवासी पक्षियों को विदेश
वे वहाँ बस जाने नहीं आते
मर जाने तो क़तई नहीं
उनकी पुतलियों में बसता है वापसी का रास्ता,
डैनों के सिरों पर
या देह और पंखों की परतों के अंतरजाल में
हर पक्षी रखता है महफ़ूज़
कहीं कुछ गंध, कुछ मिट्टी अपने देश की!

Recommended Book:

Previous articleपहाड़ और पगडण्डी
Next articleमैं किसकी औरत हूँ
देवेश पथ सारिया
कवि एवं गद्यकार।पुस्तकें— 1. कविता संग्रह: 'नूह की नाव' (2022) : साहित्य अकादेमी, दिल्ली से। 2. कथेतर गद्य: 'छोटी आँखों की पुतलियों में' (2022) ताइवान डायरी : सेतु प्रकाशन, दिल्ली से। 3. अनुवाद: 'हक़ीक़त के बीच दरार' (2021) : वरिष्ठ ताइवानी कवि ली मिन-युंग के कविता संग्रह का हिंदी अनुवाद।उपलब्धियाँ : 1. ताइवान के संस्कृति मंत्रालय की योजना के अंतर्गत 'फॉरमोसा टीवी' पर कविता पाठ एवं लघु साक्षात्कार। 2. प्रथम कविता संग्रह का प्रकाशन साहित्य अकादेमी की नवोदय योजना के अंतर्गत। 3. बिंज एवं नोशन प्रेस द्वारा आयोजित राष्ट्रीय कहानी लेखन प्रतियोगिता (जुलाई-2022) में प्रथम स्थान।अन्य भाषाओं में अनुवाद/प्रकाशन: कविताओं का अनुवाद अंग्रेज़ी, मंदारिन चायनीज़, रूसी, स्पेनिश, बांग्ला, मराठी, पंजाबी और राजस्थानी भाषा-बोलियों में हो चुका है। इन अनुवादों का प्रकाशन लिबर्टी टाइम्स, लिटरेरी ताइवान, ली पोएट्री, यूनाइटेड डेली न्यूज़, स्पिल वर्ड्स, बैटर दैन स्टारबक्स, गुलमोहर क्वार्टरली, बाँग्ला कोबिता, इराबोती, कथेसर, सेतु अंग्रेज़ी, प्रतिमान पंजाबी और भरत वाक्य मराठी पत्र-पत्रिकाओं में हुआ है। सम्प्रति: ताइवान में खगोल शास्त्र में पोस्ट डाक्टरल शोधार्थी। मूल रूप से राजस्थान के राजगढ़ (अलवर) से सम्बन्ध।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here