कवि, एक रात, निर्वस्त्र
ज़रूरत, शिखर, घोंसले, बीमार
क्षुद्रता, यह रात, डूबना
ख़ाली हाथ, कविता ने
शोक, जुलूस, यात्रा के दौरान

Books by Mani Mohan:

 

 

Previous articleप्रेमिल क्षणिकाएँ
Next articleकवि, एक रात, निर्वस्त्र
मणि मोहन
जन्म: 02 मई 1967, सिरोंज, विदिशा (म.प्र.) | शिक्षा: अंग्रेज़ी साहित्य में स्नातकोत्तर और शोध उपाधि | सम्प्रति: शा. स्नातकोत्तर महाविद्यालय, गंज बासौदा में अध्यापन। प्रकाशन: वर्ष 2003 में कविता संग्रह 'क़स्बे का कवि एवं अन्य कविताएँ', 2012 में रोमेनियन कवि मारिन सोरेसक्यू की कविताओं की अनुवाद पुस्तक 'एक सीढ़ी आकाश के लिए', 2013 में कविता संग्रह 'शायद', 2016 में कविता संग्रह 'दुर्दिनों की बारिश में रंग' तथा तुर्की कवयित्री मुईसेर येनिया की कविताओं की अनुवाद पुस्तक 'अपनी देह और इस संसार के बीच', 2020 में कविता संग्रह 'भेड़ियों ने कहा शुभरात्रि' प्रकाशित। सम्पर्क: [email protected].com

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here